How To Become Rich In India In Hindi



CONTROL YOUR TIME , MONEY AND RESPONSE DAILY.

          “अगर आप अपनी प्रतिक्रिया, खर्च, और समय के इस्तेमाल करने के तरीके को नियंत्रित कर लेते है, तो आप को स्वस्थ, धनी, और बुद्धिमान बनने से कोई रोक नहीं सकता, इसलिए अपना समय, धन और प्रतिक्रिया प्रतिदिन नियंत्रित करे ।

         If your response, cost, and take time to get used to control how you healthy, wealthy, and wise no one can stop you from becoming,so control your time, money and responce daily.

धनी बनने के 3 रास्ते


[1]प्रतिक्रिया नियंत्रण

          जो घटनाये घटित होती है उस पर हमारी प्रतिक्रिया महत्वपूर्ण होती है । हमारी प्रतिक्रिया पर ही हमारे दोस्त या दुश्मन अपनी नीतिया तैयार करते है और उस पर कार्य करते है, इसलिये हमारी प्रतिक्रिया हमारे लिए भी और दूसरो के लिए भी महत्वपूर्ण होती है । सबसे बड़ी बात यह है कि घटनाये हमारे नियंत्रण में नही होती परन्तु उस पर हम जो प्रतिक्रिया देते है वह हमारे नियंत्रण में होती है, जिस पर हम कार्य कर सकते है, इसलिए हमें अपनी प्रतिक्रिया नियंत्रण के लिए नियमित रूप से अभ्यास करने की आवश्यकता होती है।

“If you want to change other people’s response, you can control your response.”


[2]खर्चो पर नियंत्रण

          मनुष्य खर्च करने के लिए कमाता है । गरीब और अमीर आदमी के खर्च करने के तरीके में भारी अंतर पाया जाता है । गरीब आदमी अपने दायित्यो पर खर्च करते है जबकि आमिर आदमी अपनी आमदनी का ६०% अपने सम्पतियो के बिकास पर खर्च करते है ।गरीब आदमी कम कमाता है और अपनी आमदनी का १००% अपने दायित्यो पर खर्च करता है । यदि हम अपने दायित्यो की प्राथमिकता तय करके ४०%दायित्यो पर एव ६०%ऐसे जगह खर्च करे, जो कुछ प्रतिशत उसी माह वापस आमदनी आ जाये, तो धीरे-धीरे हमारे दायित्व भी पूरे हो जायेगे और आमदनी भी दुगुनी हो जाएगी और हम अमीर बनने की शुरुवात कर सकते है ।

“If you want to become rich you can, you can control your expenses.”


[3]समय पर नियंत्रण

          अक्सर गरीब आदमी शिकायत करता है कि उसके पास समय नहीं है । सही यह है कि उसके पास समय की कमी नहीं है बल्कि उसके पास तो समय को नियंत्रित करने वाला दिशानिर्देश ही नहीं है,उसके पास उसका अपना कार्य तालिका नही है ।अगर गरीब आदमी अपने २४ घंटे का प्रयोग सही तरीके से करे तो उसके पास पर्याप्त समय उपलब्ध है लेकिन वह अपने समय का उपयोग शिकायत करने में और निष्क्रिय रहने में ज्यादा करता है उसे यह मालूम नहीं रहता है कि उसे कल कितने बजे जागना है और क्या-क्या करना है । समय का सही उपयोग करने के लिए उसे कल के २४ घंटे का एक्शन प्लान आज ही उसके पास होना चाहिए ।

“If you want extra work for income you can control your time.”

गरिमा बेरोजगारी उन्मूलन समिति, रामपुर, अरगूपुरकला, जौनपुर, उत्तरप्रदेश, भारत (इन्डिया)

Powered By Indic IME
Skip to toolbar